बालों के लिए वरदान है तिल का तेल | तिल के तेल की मालिश के फायदे

तिल के तेल की मालिश के फायदे:- बालों की समस्याओं से निपटना इतना आसान नहीं है, खासकर तब जब आप अपने बालों के लिए सही तेल का चुनाव न कर लें। ऐसा इसलिए है क्योंकि बालों के झड़ने में सबसे ज्यादा असर डालता है आपका Hair Oil, जिसकी वजह से बालों से जुडी कई समस्याएं जैसे:- बाल झड़ना, रुसी, रूखे बाल और बालों की लम्बाई का ना बढ़ना हैं।

आज आप जानेगें तिल के तेल की मालिश के फायदे, तिल का तेल इतना शुभ माना गया हैं कि प्राचीन हिंदू पौराणिक कथाएं उन्हें अमरता के प्रतीक के रूप में माना जाता हैं बालों की कई समस्याओं के लिए तिल का तेल एक कारगर इलाज है। इसलिए, तिल के तेल का उपयोग बहुत सारे सौन्दर्य प्रसाधनो में उपचार के आधार के रूप में भी प्रयोग किया जाता है।

तिल भारत की प्रमुख तिलहन फसल है। तिल के तेल (Sesame Oil) का भारत में बड़ा महत्व है। आयुर्वेद के जानकार हजारों सालों से इसका प्रयोग भोजन, पूजा-पाठ और औषधि के रूप में करते आए हैं। तिल के फायदे की वजह से ही इसे Queen of Seeds Oil के नाम से जाना जाता है।

तिल का तेल क्या है?

तिल का तेल या जिंजेली तेल तिल के बीजों से प्राप्त एक वनस्पति तेल है। तिल की खेती मुख्य रूप से अफ्रीका और भारतीय उपमहाद्वीप के कुछ हिस्सों में की जाती है। जब ये बीज पक जाते हैं तो इनके बाहरी खोल (Cover)nफट जाते हैं। फिर इन बीजों से तेल को दबाने या टोस्ट करने की तकनीक से निकाला जाता है। जिससे हमे या शुद्ध रूप में प्राप्त हो सकते।

तिल के तेल में पाए जाने वाले पोषक तत्व

विटामिन बी-1, विटामिन K, विटामिन E, विटामिन C
कैल्शियम – Calcium
तांबा – Coper
फास्फोरस
लोहा – Iron
मैग्नीशियम Magnesium
मैंगनीज
जस्ता
Monounsaturated 39.700 g ……… pr 100g
Polyunsaturated 41.700 g …………pr 100g

(बालों के लिए) तिल के तेल की मालिश के फायदे

भारत में भले ही तेल से बालों की मालिश करने की परंपरा सदियों पुरानी है, लेकिन इसका महत्व कम नहीं हुआ है। चाहे आप बालों के झड़ने को रोकना चाहते हों या आप अपने बालों को सुरक्षित और मजबूत बनाना चाहते हों, तिल के तेल को अपने नियमित बालों की देखभाल की दिनचर्या में शामिल करना जरूरी है। यहां बताया गया है कि यह बालों को कैसे लाभ पहुंचाता है –

बालों के विकास को बढ़ावा देता है

अगर आप बालों के झड़ने की समस्या से जूझ रहे हैं और आपके बालों की Growth बिल्कुल ही रुक चुकी है तो सिर और बालों पर तिल के तेल की मालिश के फायदे ले सकते है,इससे न सिर्फ बालों की ग्रोथ अच्छी होगी बल्कि गंजेपन की समस्या से भी बचा जा सकता है।

हाल के अध्ययनों के अनुसार, बालों पर अनगिनत तिल के तेल की मालिश के फायदे देखने को मिले हैं। इसके परिणाम मिनोक्सिडिल (Minoxidil) के बराबर हैं जो गंजापन को रोकने के लिए सबसे बेहतर माना जाता हैं। तिल के तेल से बालों की मालिश करने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है जो बालों के विकास को और बालों के बढ़ने की गति को तेज कर देता है।

हानिकारक यूवी किरणों से बालों को बचाता है

सूरज के संपर्क में आने से बालों के रोम और खोपड़ी को बहुत नुकसान होता है। तिल का तेल प्राकृतिक सूर्य-अवरोधक एजेंट के रूप में कार्य करके बालों को लाभ पहुंचाता है। तिल के तेल से बालों की मालिश करने से बालों के शाफ्ट के चारों ओर एक सुरक्षात्मक परत बन जाती है जो इसे सूरज की हानिकारक किरणों से बचाती है। सुरक्षात्मक परत बालों को प्रदूषण के हानिकारक प्रभावों से भी बचाती है।

(रूसी के लिए) तिल के तेल की मालिश के फायदे

जैसा की सभी लोग ये जानते हैं की Dandruff एक बैक्टीरिय/फंगस से होने वाले समस्याहै, तिल के तेल में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो स्कैल्प को साफ और स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। तिल के तेल से बालों की मालिश करने से डैंड्रफ की समस्या नहीं होती है और खुजली से भी राहत मिलती है।

असमय बालों को सफेद होने से रोकता है

हालांकि पहले बालों का सफेद होना ज्यादातर उम्र के कारण होता था पर अब ऐसा नही है बदलती जीवन शैली और कैमिकल युक्त शैम्पू और तेल के चलते ये समस्या अब समय से पहले बच्चों में ही होने लगी है,तिल के तेल से अपने बालों और स्कैल्प की मालिश करने से समय से पहले होने वाले सफेद बालों को रोकता है।

क्योंकि तिल के तेल में बालों को काला करने के गुण होते हैं जो आपके बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने में मदद करते हैं। कभी-कभी पर्यावरणीय तनाव बालों में हानिकारक रसायनों के निर्माण के कारण यह प्रक्रिया को तेजहो जाती हैं। तिल का तेल एंटीऑक्सिडेंट से भरा होता है जो ऐसे कणों और रसायनों के निर्माण को रोकता है, जिससे समय से पहले सफेद नही होते है।

(तनाव के लिए) तिल के तेल की मालिश के फायदे

तिल के तेल में भी शांत करने वाले गुण होते हैं। तिल के तेल से बालों की मालिश करने से चिंता दूर होती है और तनाव के कारण बालों का झड़ना भी बंद हो जाता है। यह माइग्रेन और अनिद्रा के लिए एक बेहतरीन उपाय है। अन्य आराम देने वाले तेल जैसे नीलगिरी का तेल या इलंग इलंग तेल तिल के तेल में इसके सुखदायक प्रभाव को बढ़ाने के लिए जोड़ा जा सकता है।

सिर को ठंडा रखता है तिल का तेल

तिल के तेल में सुखदायक ठण्डक का गुण होते हैं, जिसके कारण यह स्कैल्प को ठंडा रखता है। गर्मी से स्कैल्प में पसीना आता है जिससे बालों के रोम छिद्र कमजोर हो जाते है, और बाल झड़ने लगते हैं लेकिन तिल के तेल से मसाज करने से बालों की सभी समस्याओं का समाधान आसानी से किया जा सकता है।

बालों के लिए तिल के तेल का उपयोग कैसे करें?

अगर आप इसे झाड़ते बालों की समस्या के लिए तिल के तेल का उपयोग करना चाहते है तो इस तेल को सीधे बालों और स्कैल्प में लगा कर मालिश करना सबसे आसान और कारगर तरीको में से एक है। हालाँकि, यदि आप इसको पतला करके उपयोग करना चाहते है तो इन तेलों के साथ मिला कर तिल के तेल की मालिश के फायदे आसानी से ले सकते हैं।

नीम और तिल के तेल की मालिश के फायदे

बालों में लगाने के लिए नीम के तेल के साथ तिल के तेल का भी प्रयोग किया जाता है। तिल के तेल के साथ नीम के तेल के बराबर भागों (50/50) को पतला करने और धीरे से खोपड़ी में मालिश करने है। 30 से 40 मिनट तक ऐसे ही अच्छी तरह से काम करने के लिए छोड़ दें और फिर किसी भी Natural Shampoo से बालों को धुल लें। ऐसा करना से आपके स्कैल्प में कभी भी फोड़े, फुंसी की समस्या नही होगी साथ ही जुयें होने के समस्या भी हमेशा के लिए समाप्त हो जाती है।

बादाम और तिल के तेल की मालिश के फायदे

तिल के तेल और मीठे बादाम के तेल को बराबर में मिला कर आप अपने बालों पर इसे डीप कंडीशनिंग की तरह उपयोग कर सकते है क्योंकि बादाम का तेल फैटी एसिड का एक अच्छा स्रोत है। जो बालों में लगाने से Damaged बालों को Repair करता है साथ ही बालों को सुन्दर और चमकदार बनाता है। आप उसे बालों में लगा कर पूरी रात के लिए छोड़ दें उसके बाद अगली सुबह अपने बालों को धुल लें।

नारियल और तिल के तेल की मालिश के फायदे

नारियल का तेल भी एक गहरा कंडीशनर माना जाता है जो बालों की मालिश के लिए तिल के तेल के साथ प्रयोग करने पर क्षतिग्रस्त बालों को ठीक करता है।इसके बेहतरीन फायदे के लिए दोनों तेल को बराबर भागों में मिलाकर बालों की मालिश करें। सप्ताह में 2 बार इसका प्रयोग सबसे ज्यादा फायदेमंद है।

तिल के तेल के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न


प्रश्न:- तिल के तेल के अन्य नाम क्या हैं?
उत्तर:-
तिल के तेल को भारत के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। इसे बंगाली में तिल तेल, हिंदी में तिल का तेल, तमिल में एल एननेव, तेलुगु में नुव्वुला नुने, मलयालम में एलेना और मराठी में तिलचे तेल के नाम से जाना जाता है। तिल का तेल सदियों से भारतीय परंपराओं का हिस्सा है और तेल के लिए हर क्षेत्र का अपना नाम है।

प्रश्न:- क्या तिल का तेल खाने योग्य है?
उत्तर:- जी हाँ, तिल के तेल का उपयोग लम्बे समय से खाने के लिए भी किया जाता रहा है, इसके साथ ही तिल के तेल को बालों की मसाज के साथ साथ बॉडी मसाज के लिए भी उपयोगी माना जाता है लेकिन आज सारी चीजे पैकेट में पैक होकर आने लगी है इस लिए उपयोग करने से पहले हमेशा जांच लें कि तेल उपभोग के लिए उपयुक्त है या उसी सिर्फ लगाने योग्य ही तैयार किया गया है।

हमें उम्मीद है की तिल के तेल की मालिश के फायदे तो आपने जाने ही है साथ ही आप तिल के तेल का उपयोग और किस किस तरह से कर सकते है इसके विषय में भी आपको पूरी जानकारी मिल गई है, यदि तिल के तेल की मालिश के फायदे से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमे comment कर सकते है।

Leave a Comment