नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय|Ayurvedic Tips for Good Sleep [2022]

Ayurvedic Tips for Good Sleep- नींद हमारे शरीर और मन मस्तिष्क को आराम देने का काम करती है। अच्छी और गहरी नींद के बाद हमारा शरीर ऊर्जा से भर जाता है। एक अच्छी नींद शरीर को कई रोगों से दूर रखती है। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में मानसिक तनाव, टेंशन ,डिप्रेशन आदि चीज हमारे नींद पर प्रभाव करती है जिसके कारण नींद पूरी नहीं होती और कई समस्या उत्पन्न होती है।

जैसे कि सिर दर्द, कमजोरी, शरीर का हार्मोनल बैलेंस बिगड़ना, आंतरिक गतिविधि नियंत्रित ना होना आदि कई समस्या का सामना करना पड़ता है। शरीर के अच्छे स्वास्थ्य के लिए पूरी नींद होना बेहद जरूरी है। ऐसे में नींद पूरी करने के लिए लोग नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय खोज रहें हैं।

रात को नींद का न आना अनिद्रा रोग की वजह से हो सकता है या फिर किसी चीज से डर या किसी काम को ले कर हमारी उत्सुकता की वजह से भी अक्सर नींद न आने की समस्या हो जाती है। अच्छी और गहरी नींद लाने के लिए कुछ लोग नींद आने की दवा और टोटके का सहारा लेते है पर ये कोई इलाज नहीं है।

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको अच्छी और गहरी नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय साझा करने जा रहें हैं,जो आपकी नींद पूरी करने में मदद करेगें और आपको तरोताजा मन से दिन की शुरुआत करने में मदद मिलेगी।

नींद क्या होती है? (What is Sleep?)

प्रत्येक दिन में आने वाली अचेतन अवस्था जिसमें हमें आसपास की चीजों का पता नहीं होता है उसे नींद कहते है। स्पष्ट रूप में हम इसे समझते है जब हमारा मन माथे के बीच में आज्ञाचक्र पर आता है, पर उस समय साक्षी भाव नहीं होता तो उसे नींद कहा जाता है।

हमारी दिनचर्या में नींद एक प्राकृतिक और आवश्यक है। यह हमारे शरीर और मस्तिष्क को आराम देती है और हमें ऊर्जा प्रदान करती है जो कि स्वस्थ जीवन जीने के लिये आवश्यक है। गहरी व सम्पूर्ण नींद से हमारे मन और शरीर को पूर्ण विश्राम मिलता है जिससे हम खुद को ताजा एवं ऊर्जावान महसूस करते हैं।

अनिद्रा क्या है? (What is insomnia)

अनिद्रा रोग में कई बार नींद जल्दी नहीं आती और जब आती है तब कुछ देर में ही खुल जाती है। नींद पूरी न होने के कारण शरीर को आराम नहीं मिलता जिसका बुरा असर हमारी हेल्थ और दिमाग पड़ता है। अच्छी नींद ना आने की वजह से स्वभाव में चिड़चिड़ापन आने लगता है और जल्दी गुस्सा आ जाता है। इस सब समस्याओं से बचने के लिए जरूरी है कि समय पर सही तरीके से अनिद्रा दूर करने के उपाय और नींद आने के आयुर्वेदिक उपायद्वारा इसका इलाज करे।

नींद न आने का कारण (Insomnia Causes)

अनिद्रा होने के मुख्यता दो कारण हो सकते है शारीरिक और मानसिक। इसमें कुछ और चीजें भी शामिल है जिस वजह से अक्सर नींद नहीं आती है। ऐसी बहुत सी आदतें है जो नींद ना आने की वजह बनती है। डालते है उन पर एक नजर।

  • ज़्यादा सोचना
  • बॉडी पर खुजली होना
  • सोते समय मोबाइल चलाना या टीवी देखना।
  • रात में देर तक जागना।
  • किसी बीमारी के कारण शरीर में दर्द होना।
  • कैफीन का सेवन या धूम्रपान करना।
  • चिंता या तनाव होना।
  • प्रतिदिन सोने के समय में बदलाव।
  • शाम में ज्यादा भोजन करना आदि।

नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय Ayurvedic Tips for Good Sleep

अच्छी नींद मस्तिष्क की सोचने की कार्य क्षमता को बढ़ाती है और मस्तिष्क के कई रोगों को दूर रखने में मदद करती है जैसे चिड़चिड़ापन, सिर दर्द, तनाव, ब्लड प्रेशर आदि को नियंत्रित करने में करती है। अक्सर लोग नींद आने की आयुर्वेदिक दवा घरेलू उपाय लेना ज्यादा पसंद करते हैं। आगे जानिए नींद आने का घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खा जो आपको अच्छी नींद प्रदान करेगा, जिसके कारण प्रफुल्लित मन से दिन की शुरुआत होने में मदद मिलेगी।

सामग्री

  1. अश्वगंधा चूर्ण
  2. शक्कर
  3. शुद्ध घी (तुप)
  4. दूध

बनाने की विधि
यह आयुर्वेदिक नींद आने की घरेलू दवा बड़ी आसान तरीके से बना सकते हैं। इसके लिए एक कप में 2 पतले चम्मच अश्वगंधा चूर्ण ले, उसमें एक चम्मच शक्कर और एक चम्मच घी मिलाएं और रात को सोने से पहले इसका सेवन करें। यदि आप इसका का सेवन नहीं कर पाते तो इस नुस्खे में दूध मिलाकर सेवन कर सकते है ताकि सेवन करने में आसानी होगी । यह नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय में सबसे असरदार है जो आपको मीठी नींद प्रदान करने में बहुत कारगर साबित होता है।

नींद आने के घरेलू उपाय Ayurvedic Tips for Good Sleep

पर्याप्त नींद ना आना बड़ी समस्या भी बन सकती है। इसलिए आपको कुछ ऐसे नींद आने के उपाय अपनाने चाहिए जिससे की आप अच्छे से सो सके। अक्सर कुछ लोग दिन रात दोनों वक़्त खूब सोते है। इससे शरीर में आलसपान, क़ब्ज़ और सूजन जैसे रोग होने की आशंका अधिक होती है। गर्मी के मौसम के अलावा आप दिन में सोने से बचे।

गहरी नींद न आने के उपाय करने के लिए नींद की दवा के सेवन से दूर रहे, क्यूंकि एक बार नींद की गोली की आदत लग जाए तो बिना दवा के नींद आना थोड मुश्किल हो जाता है।

  • केला – केले में पाए जाने वाले तत्व मांस-पेशि‍यों को तनावमुक्त रखते हैं। इसमें मैग्न‍िशि‍यम और पोटैशि‍यम मौजूद होते है और विटामिन बी ६ होता है जो अच्छी नींद को बढ़ावा देने में सहायक होते हैं।
  • दालचीनी – रात को गर्म दूध में आधा चम्मच दालचीनी मिलाकर पिएं। इससे आपको अच्छी नींद आएगी।
  • कैमोमाइल चाय – कैमोमाइल में एक तरह का यौगिक एपिजेनिन पाया जाता है यह अनिंद्रा में लाभ पहुंचाता है।
  • दूध – रात को सोने से पहले गर्म दूध पीना चाहिए। दूध कैल्शि‍यम का अच्छा स्त्रोत है। दूध में ट्रीप्टोफन और सेरोटोनिन होता है जो बेहतर नींद में मददगार होता है।
  • चेरी – यदि सोने से पहले चेरी का सेवन किया जाये तो यह अच्छी नींद लेने में मददगार होती है।
  • आपको यह कोशिश करनी होगी की प्रत्येक दिन आप को किसी प्रकार का श्रम करना होगा। अगर आप पुरे दिन बैठे ही रहते है या कोई श्रम वाला कार्य नहीं करते तो आप बेहतर नींद नहीं ले सकेंगे।
  • ज्यादा से ज्यादा खुश रहने की कोशिश करे और तनाव से दूर रहे। यदि आप तनाव में रहेगें तो मन हर समय नकारात्मक विचारों से घिरा रहेगा और आप सो नहीं पाएंगे इसलिए खुश रहे।
  • सोने के पहले संगीत सुने या किताब पढ़कर सोये इससे आपका दिमाग शांत रहेगा और आपको सुकून का अनुभव होगा जो अच्छी नींद लेने के लिए आवश्यक है।
  • यदि आप किसी खेल में रूचि रखते है तो उसे नियमित तौर पर खेले। इससे आपको ऊर्जा मिलेगी और आपको आराम की जरूरत होगी तो आप अच्छे से सो पाएंगे और मनपसंदीदा खेल खेलने पर आपको ख़ुशी भी मिलेगी।
  • ध्यान करें – सोने से 10 – 15मिनट पहले ध्यान लगाए। आपके मन और दिमाग को आराम मिलेगा और आप गहरी नींद सो सकेंगे।
  • योग – नियमित रूप से व्यायाम, योग और प्राणायाम करे। इससे आप स्वस्थ रहेंगे और आपको सोने में मदद मिलेगी।
  • तेल मालिश – तेल को हल्का सा गर्म करके पैर में मालिश करे ले। आपको शांति और सुकून का अनुभव होगा, और गहरी नींद आती है।
  • आयुर्वेदिक चूर्ण – सर्पगंधा और अश्वगंधा दोनों को समान मात्रा में मिलाकर चूर्ण बना ले। सोने से पहले 3 से 5 ग्राम की मात्रा में इस चूर्ण को पानी के साथ लेने से भी लाभ होगा।
  • सोने के लिए बड़ा तकिया इस्तेमाल ना करे, इससे सिर में खून का प्रवाह रुक जाता है और सिर दर्द की शिकायत होने लगती है। सोने से पूर्व गर्दन, कान, दोनों पैर और मुंह अच्छे से धोए, इससे सिर में खून का प्रवाह तेज होता है।
  • गहरी नींद सोना है तो सोने से पहले रात को अपने मोबाइल फोन को बंद कर दे या किसी दूसरे कमरे में रख दे। अक्सर रात को फोन पर मैसेज की टोन बजती है जिस कारण नींद टूट जाती है।
  • प्रतिदिन रात को सोने और सुबह उठने का समय निर्धारित करें फिर चाहे रविवार हो आप उसी समय सोए और उठे।
  • नींद खुलने का एक कारण मुंह ढक कर सोना भी है, क्योंकि मुंह ढक कर सोने से सांस लेने में परेशानी होती है जिससे नींद खुल जाती है।
  • अपनी पसंद की जगह पर सोने के लिए अपना बिस्तर लगाए और जिस तरीके से आपको सोना पसंद हो वैसे सोए।
  • सोने से पहले रात को अपने दिमाग से सभी तरह की टेंशन निकाल दे और ये न सोचे की आपको अगले दिन क्या करना है।

नींद ना लगने की समस्या पुरुष के मुकाबले महिलाओं में ज्यादा पाई जाती है। काम का अधिक तनाव (Stress) होने से ज्यादातर लोग अपनी नींद पूरी नहीं कर पाते जिसके कारण उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसीलिए जितना हो सके उतना खुश रहने की कोशिश करें ताकि चिंता से दूर रहने में मदद मिलेगी।

अच्छी नींद के फायदे (Benefits of Sleep in Hindi)

6 से 8 घंटे की नींद शरीर के लिए बहुत जरुरी होती है। अच्छी नींद लेने के कई बहुत सारे लाभ है। जिससे मनुष्य का स्वास्थ्य सही रहता है। ऐसे ही कुछ फायदों के बारे में हम आगे जानेंगे।

मानसिक स्थिति में सुधार – जब हम लगातार काम करते रहते है तो शरीर के साथ – साथ मन पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। पर्याप्त नींद लेने से मानसिक स्वास्थ्य बेहतर रहता है। जिससे की तनाव और चिंता में कमी आती है।

अच्छी याददाश्त – नींद पूरी होने से याददाश्त अच्छी बनी रहती है और भूलने की समस्या से निजात मिलता है। भरपूर नींद लेने वाले व्यक्तियों की याददाश्त कम नींद लेने वाले व्यक्तियों से तेज होती है। जिससे की उन्हें लम्बे समय तक चीजें याद रहती है।

एकाग्रता में वृद्धि – पर्याप्त नींद लेने से एकाग्रता में वृद्धि होती है। जिससे किसी भी कार्य को करने में मन लगता है और मन इधर उधर भटकता नहीं है उस कार्य को ध्यान से एकाग्रचित होकर कर सकते है।

इम्युनिटी को बढ़ाये – एक गहरी और सामान्य से ज्यादा नींद लेने पर इम्युनिटी में भी सुधार होता है। जिससे आपको किसी भी बीमारी से लड़ने, संक्रमणों से लड़ने की ताकत मिलेगी।

तनाव कम करने में सहायक – तनाव में रहने से हम किसी भी बीमारी के जल्दी शिकार हो जाते है। अगर आप अच्छी नींद लेंगे तो तनाव को कम करने में मदद मिलेगी।

हमें उम्मीद है की इस लेख में Ayurvedic Tips for Good Sleep के जो तरीके आपके साथ साझा किये गये उनमें से अगर कुछ बातों पर ध्यान देकर जीवन में कुछ बदलाव करते हैं तो नींद न आने की समस्या हमेशा के लिए दूर हो जायेगी। इन तरीकों को अपनाने के बाद आप अपने अनुभव कमेंट के माध्यम से हमारे साथ जरुर साझा करें।

Leave a Comment