मयूरासन के अद्भुत लाभ और करने का तरीका (Mayurasana Benefits in Hindi)

हेल्लो दोस्तों Mayurasana Benefits in Hindi को जाने से पहले हम जान लेते हैं की Mayurasana क्या है और कैसे काम करता है।

मयूर का अर्थ होता है मोर, मयूरासन (Peacock Pose) जैसा की इसके नाम से ही पता चलता है मयूर + आसन = मयूरासन। इस आसन को करते समय शरीर की आकृति मोर की तरह दिखाई देती है, इसलिए इसका नाम मयूरासन है।

इस आसन को बैठकर सावधानी पूर्वक किया जाता है। यह एक मध्यवर्ती हांथो के संतुलन वाला आसन है। इसमें शरीर का पूरा भार दोनों हाथों पर टिका होता है और पुरा शरीर हवा में लहराता है।

इस लेख मे आप मयूरासन (Peacock Pose) Mayurasana Benefits in Hindi के बारे मे विस्तार से जानेगे कि……

  • मयूरासन क्या है? What is Mayurasana Yoga in Hindi 
  • मयूरासन कैसे करें? Mayurasana Steps in Hindi 
  • मयूरासन के फायदे Mayurasana Benefits In Hindi
  • मयूरासन कब नही करना चाहिए? Who should not do Mayurasana?

Table of Contents

मयूरासन क्या है? What is Mayurasana (Peacock Pose)

मोर भारतीय पौराणिक कथाओं द्वारा इंगित किय गया है जिसे जाग्रति, अमरता और आध्यात्मिकता का प्रतीक माना जाता है। घेरण्डसंहिता के अनुसार, मयूरासन शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थो को बाहर निकालने में मदद करता है। मयूरासन एक विशेष रूप से उन्नत योगासन है जो हठ योग में हांथो के संतुलन बनाये रखने वाला आसन है। (Mayurasana Benefits in Hindi)

घेरण्डसंहिता सबसे प्राचीन और प्रथम ग्रन्थ है, जिसमे योग की आसन, मुद्रा, प्राणायाम, नेति, धौति आदि क्रियाओं का विशद वर्णन है। इस ग्रन्थ के उपदेशक घेरण्ड मुनि हैं जिन्होंने अपने शिष्य चंड कपालि को योग विषयक प्रश्न पूछने पर उपदेश दिया था।

मयूरासन कैसे करें? (Mayurasana For Beginners)

  1. सबसे पहले आप किसी समतल जगह पर घुटनों के बल बैठ जायें और अपने हाथो को जमीन पर टिका दें।
  2. अपने हाथो की कोहनी को अपनी नाभि के पास टिका दे।
  3. अब अपने पैर के पंजो को आपस में सटाते हुए पैरों को सीधा करें।
  4. साँस को अन्दर लेते हुए अपने पुरे शरीर का भार अपने दोनों हांथो पर लाये और शरीर को हवा में रखें।
  5. ऐसा तब तक करे, जब तक आप अपने भार को हांथो पर रख सकते है और फिर धीरे-धीरे अपनी सामान्य स्थिति में वापस आयें।
  6. ऐसा आप 5 से 7 बार अपनी सुविधा के अनुसार करें।

ऐसा करने से आपको मयूरासन के सभी लाभ आसानी से मिलेंगे (Mayurasana Benefits in Hindi) शुरूआती समय में आपको मयूरासन करने में थोड़ी कठिनाई हो सकती है क्योंकि आपको शरीर का सारा भार अपने हांथो पर रखना होता है इसलिए धीरे-धीरे आपको इसका अभ्यास करना है कुछ ही दिनों में आप इसको आसानी से कर पायेगें।

मयूरासन के फायदे (Mayurasana Benefits in Hindi)

  1. आमतौर पर मयूरासन से गुर्दे, अग्नाश्य और आमाशय के साथ ही यकृत को भी अधिक लाभ होता है। इसके साथ ही पाचन शक्ति भी मजबूत होती है।
  2. यह आसन फेफड़ों के लिए बहुत उपयोगी है इससे शरीर में रक्त संचार सुचारू रूप से काम करता है साथ ही शरीर को पर्याप्त आक्सीजन पहुचती है।
  3. मधुमेह के रोगियों के लिए भी यह आसन  बहुत लाभकारी है। इससे क्लोम ग्रंथि पर दबाव पड़ने के कारण मधुमेह के रोगियों को भी लाभ मिलता है।और आसन का अभ्यास करने वालों को मधुमेह रोग होने की सम्भावना बहुत कम हो जाती है।
  4. यह आसन भुजाओं और हाथों को बलवान बनाने के साथ ही हाथ, पैर व कंधे की मांसपेशियों को भी मजबूत बनाता है।
  5. कब्ज‍, अफारा, पेट दर्द, वायु विकार और अपच आदि पेट से संबंधित सामान्य रोगों का निदान किया जा सकता  है। जिन लोगों को बहुत अधिक कब्ज रहती है उनके लिए मयूरासन से बेहतर कोई उपाय नहीं। यह जठराग्नि को जागृत करता है।
  6. सामान्य रोगों के अलावा मयूर आसन से आंतों व अन्य अंगों को मजबूती मिलती है साथ ही आमाशय और मूत्राशय के दोषों से मुक्ति मिलती है।
  7. चेहरे पर चमक लाने के लिए मयूरासन एक अच्छा उपाय है। यह चेहरे पर लाली प्रदान करता है तथा उसे सुंदरता को बढाता है।

मयूरासन करते समय इन बातों का रखें ध्यान

  1. मयूरासन को सुबह खाली पेट करना अधिक लाभकारी होता है ।
  2. इस आसन को करने के लिए हमेशा खुली और हवादार जगह का ही चुनाव करें।

मयूरासन कब न करें? (Mayurasana Precautions)

  1. यदि आपके हाँथ, कलाई, भुजा में कहीं चोट या दर्द है तो मयूरासन को न करें।
  2. पेट में कोई चोट या आपरेशन हाल ही में हुआ हो तो डाक्टर की सलाह से ही इसे करें।
  3. गर्भवती महिलाएं मयूरासन को न करे।
  4.  मयूरासन उन लोगों को करने के लिए मना किया जाता है जो उच्चे रक्तचाप की समस्या से पीडि़त हैं।
  5. जिन लोगों को ब्लडप्रेशर, टीबी, हृदय रोग, अल्सर और हर्निया रोग की शिकायत हो, वे यह आसन योग चिकित्सक की सलाह के बाद ही करें।
  6. हृदय रोग या हार्ट की बीमारियों से ग्रसित लोगों को भी मयूरासन नहीं करना चाहिए।

हमे उम्मीद आपको इस लेख में (Mayurasana Benefits in Hindi) मयूरासन की जानकारी अच्छे से मिल गयी होंगी यदि आप अपना कोई  भी सवाल या सुझाव हमारे साथ साझा करना चाहते है तो हमे comment करें।

Leave a Comment